मिर्जापुर के औद्योगिक घराने की पहचान -विश्वनाथ अग्रवाल

विश्वनाथ अग्रवाल का सामाजिक वयक्तित्व उम्दा है तो वही सरल व सहज स्वभाव के चलते उनकी लोकप्रियता भी दिन दूनी रात चौगनी तरक्की करती गयी|जहा बीजेपी के बड़े कद्दावर नेताओ का उनके यहाँ आने का रिकॉर्ड रहा है तो वही राजनैतिक लोभ का अभाव देखा जाता रहा है |लेकिन इस बार आमजनमानस में इस बात की चर्चा देखि जा रही है की यदि मिर्ज़ापुर नगरपलिका के अध्यक्छ के लिए कोई है तो निर्विवाद व लोकप्रिय नामो की सूची में प्रथम नाम विश्वनाथ का ही सुना जा सकता है |
ऐसा नाम जो न सिर्फ मिर्जापुर के औद्योगिक घराने की पहचान रखता हो बल्कि जिनका तमाम सामाजिक संगठनों के द्वारा सेवा का प्राचीन इतिहास भी रहा हो,जो आज सुर्खियों में है उनका नाम नगरपालिका चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है| विश्व हिंदू परिषद कि प्रांतीय कमेटी में सक्रीय सदस्य के रूप में,अग्रवाल नवयुवक समिति के पदाधिकारी के रूप में अग्रवाल नवयुवक प्रशासन समिति के रूप में, रामकुमार मंदिर में बतौर ट्रस्टी के रूप में, लायंस क्लब में बतौर डायरेक्टर के रूप में लायंस स्कूल में चीफ एग्जीक्यूटिव के रूप में भी ,बीजेपी के सक्रीय सदस्य लेकिन काम पार्टी में उम्दा व पार्टी के लिए रात दिन एक करने वाले की चर्चा सभी के जुबान पर देखी जा रही है|आज विश्वनाथ अग्रवाल को जाना जाता है |विश्वनाथ अग्रवाल के बारे में यह कहा जाता है जिस क्षेत्र में इन्होंने कदम रखा उसमें सफलता की पराकाष्ठा तक पहुंचने का काम करते है |कार्य के प्रति पूरे समर्पण के साथ उसका सहयोग हर छेत्र में रहा है| प्रलोभन की इच्छा के बगैर सेवाभाव के साथ निस्वार्थ लोगों की मदद किया है | लोगों की उम्मीद के मुताबिक नगर पालिका मिर्जापुर के क्षेत्र में विकास के कार्य को आधुनिकता के समस्त माहौल मुहैया कराना ,साथ साथ नगर की प्राचीन सभ्यता को संरक्षित करते हुए विकास के मार्ग को प्रशस्त करने का भी रोड मैप तैयार किया गया है |

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.