जगन्नाथ यात्रा व ईद पर कानून व्यवस्था,-जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे

दिनांक 17 जून, 2017
मीरजापुर- जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे की अध्यक्षता में जगन्नाथ यात्रा व ईद पर कानून व्यवस्था,सफाई, विद्युत, आदि विषयों से संबंधित बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद मीरजापुर, चुनार ,अहरौरा व नगर पंचायत कछवां को निर्देशित किया कि वे अपने-अपने क्षेत्रो में सफाई प्रकाश एवं पेयजल की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करेगे। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये। उन्होने कहा कि नगर मजिस्ट्रेट एवं समस्त उपजिलामजिस्ट्रेट भी अपने-अपने क्षेत्रों में उक्त सभी व्यवस्थाओं को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करायेगे। कानून व्यवस्था एवं साम्प्रदायिक सद्भाव बनाये रखने हेतु नगर क्षेत्र में नगर मजिस्टेªट तथा उप खण्ड़ों में उपजिलामजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी होगी वे अपने स्वविवेकानुसार क्षेत्रों में तहसीलदार,अपर तहसीलदार ,नायब तहसीलदार की ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करेंगे।
जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियन्ता विद्युत को निर्देशित किया कि वे विद्युत आपूर्ति की निरन्तरता सुनिश्चित करें। अघोसित विद्युत कटौती पर विशेष ध्यान रखें ऐसी स्थिति होने पर वे व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार माने जायेगे। उन्होने कहा कि उक्त अवसर पर विशेष चैकसी बरती जाये। उन्होने कानून व्यवस्था एवं स्थिति को नियंत्रित करने हेतु पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था तथा पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी मजिस्ट्रेट के साथ लगाये जायेगे। उन्होने कहा कि ईद व जगरनाथ यात्रा में किसी भी प्रकार की व्यवस्था चूक न हो इसका पूरा ध्यान रखा जाये।
जिलाधिकारी ने कहा कि ईद-उल-फितर का त्यौहार चन्द्र के अनुसार मनाया जाना सम्भावित है। रमजान के इस पवित्र माह में जनपद के विभिन्न मस्जिदांे में भारी संख्या में एक साथ नमाज पढ़ने की परम्परा है तथा रोजेदारो को सेहरी आदि की सूचना देने हेतु लाउड स्पीकर का प्रयोग किया जाता है। ईद-उल-फितर का पर्व भाई चारे प्रेम तथा सम्प्रदायिक सौहार्द का संदेश देता है। ईद-उल-फितर के त्यौहार को सकुशल सम्पन्न कराने, साम्प्रदायिक सौहार्द चुस्त दुरूस्त रखने के अतिरिक्त पर्व पर अन्य जिवकोपयोगी सुविधाओ को उपलब्ध कराने तथा कानून व्यवस्था दुरूस्त रखने के लिए जिलाधिकारी ने जनपद के अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होने कहा कि विशेष ध्यान रखा जाये कि रमजान में अलविदा एवं ईद-उल-फित्तर की नवाज के अवसर पर बिजली एवं जलापूर्ति बनी रहे। नवाजियों के आवागमन मार्ग पर समुचित सफाई की व्यवस्था रहें। उन्होने कहा कि नमाज के समय मस्जिदो/ईदगाहो के निकट आवारा छुटटा पशुओं का विचरण न हो। उन्होने निर्देशित किया कि ईद-उल-फितर की नवाज के अवसर पर बड़ी संख्या में मुस्लमानों द्वारा नवाज अदा किये जाने के कारण मस्जिदो/ईदगाहो में जगह कम होने पर सामने सड़को पर भी नवाज अदा की जाती है जिससे यातायात में समस्या उत्पन्न हो जाती है अतः ऐसे मार्गों पर विशेष सतर्कता बरते एवं प्रर्याप्त पुलिस की व्यवस्था किया जाये जो आवागमन की व्यवस्था को सुचारू बनाये रखे।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.