दिनांकः 28 जून, 2017
जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने जानकारी देते हुये बताया कि शासन के द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं के सुरक्षा व सामाजिक एवं आर्थिक सशक्तीकरण हेतु 181 महिला हेल्प लाइन के रूप में जनपद मीरजापुर को 01 रेस्क्यू वैन उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने बताया कि यह 181 एक टोल््र फ्र्री नम्बर है जो 24 घंटे कार्य करेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि कोई भी महिला या बालिका जो विषम परिस्थितियों में ग्रस्त हो अथवा उसको किसी प्रकार की समस्या या आवश्यकता की पूर्ति हेतु सलाह की आवश्यकता हो तो टोल फा्री नम्बर के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकती है।
इस सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुये जिला प्रोवेशन अधिकारी अनिल कुमार सोनकर ने बताया कि इस हेल्प लाइन का केन्द्रीयकृत काल सेन्टर लखनऊ में में संचालित है। रेस्क्यू वैन हैल्प लाइन के साथ जी0पी0एस0 सिस्टम से युक्त है जिससे टीम घटना स्थल पर पहुॅच कर सहायता प्रदान करती है। उन्होंने यह भी बताया कि यदि रेस्क्यू वैन किसी दीवानी मामले से सम्बंधित यो घरेलू हिंसा का हो तो ऐसी स्थिति में 181 महिला हैल्प लाइन सुगमकर्ता के साथ दो महिला होमगार्ड अनिवार्य रूप से रवानगी करेगें। हिसंा से पीडित महिला /बच्चों के मेडिको लीगल रिपोर्ट दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा- 164 के अन्तर्गत न्यायिक मजिस्ट््रेट के समक्ष बयान दिलाने बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत करने तथा पुनर्वासित किये जाने हेतु रेस्क्यू वैन का उपयोग किया जायेगा। रस्क्यू वैन के कार्यक्षेत्र सम्पूर्ण जनपद होगा।