सीधे निलम्बन की संस्तुति की जायेगी-मीरजापुर, जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे

जिला स्वास्थ्य समिति के बैठक में चिकित्सक के निलम्बन की संस्तुति
मीरजापुर, 30 जून, 2017 ( जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में कडे़ तेवर अपनाते हुये प्रगति न लाने वाले व लापरवाह चिकित्सको के विरूद्ध कठोर कदम उठाते हुये एम0ओ0आई0सी0 पटेहरा के निलम्बन की संस्तुति शासन को भेजने का निर्देश दिया। इसी प्रकार हलिया के एम0ओ0आई0सी0 को प्रतिकूल प्रविष्टि देने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने अन्य पी0एच0सी0 व सी0एच0सी0 के प्रभारी चिकित्साधिकारियों को भी कडे़ निर्देश देते हुये कहा कि अगली बैठक में यदि प्रगति संतोषजनक नहीं पाया गया तो सम्बंधित के विरूद्ध सीधे निलम्बन की संस्तुति की जायेगी।
जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट सभागार में एन0आर0एच0एम0 के जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कर स्वास्थ्य से सम्बंधित विभिन्न योजनाओं के प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान जननी सुरक्षा कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान पाया गया एम0ओ0आई0सी0 पटेहरा तथा हलिया के खराब प्रगति के कारण प्रदेंश में मीरजापुर जनपद काफी पीछे हुआ है। गत माह के बैठक में भी जिलाधिकारी ने प्रगति बढाने के लिये चिकित्सकों को चेतावनी दी गयी थी परन्तु जिलाधिकारी ने कहा कि बार-बार चेतावनी देने के बाद भी सुधार नहीं दिखाई पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि लापरवाह चिकित्सकों के कारण जिले की प्रगति खराब नहीं होने देगें। जिलाधिकारी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही बरतने वाले चिकित्सकों व कार्मिकों के लिये जनपद में कोई जगह नहीं होगा उन्हें यहां से रिलीव भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में डिलिवरी के 24 घंटे के बाद देय धनराशि माताओं के खाते में भेज दिया जाये। इसमें किसी प्रकार की हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं की जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केद्रों पर सफाई एवं आवश्यक सामनों को क्रय करें। उन्होंने कहा कि उप मुख्य चिकित्साधिकारी जिस क्षेत्र में प्रभारी है वे समय-समय पर निरीक्षण कर सफाई के बारे में रिपोर्ट मुख्य चिकित्साधिकारी को देगें। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान यदि कहीं गन्दगी या अव्यवस्था पाई जाती है तो सम्बंधित एम0ओ0आई0सी0 के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि डायरिया तथा किसी भी गर्भवती माताओं का डिलीवरी के समय किन्हीं कराणों से यदि मृत्यु होती है तो सम्बंधित चिकित्सक को दोषी मानते हुये उसके विरूद्ध कार्यवाही करते हुये सम्बंधित क्षेत्र के आशा व ए0एन0एम0 के विरूद्ध भी र्कावाही की जायेगी। पी0सी0पी0एन0डी0 के समीक्षा के दौरान निर्देशित किया गया कि अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों का औचक निरीक्षण करें तथा कार्यवाही करें। इस दौरान बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, अनटाइड फन्ड, डाटा फीडिंग आदि की समीक्षा की गयी तथा प्रगति लाने का निर्देश दिया गया।
इस बैठक के साथ आगामी 02 जुलाई से प्रारम्भ होने वाले पल्स पोलियों अभियान व 11 जुलाई से इन्द्रधनुष योजना के तैयारियों की भी समीक्षा की गयी।
इस अवसर पर संयुक्त मजिस्ट्रेट अश्वनी कुमार पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विधु गुप्ता, सी0एम0एस0 डा0 ओ0पी0शाही, सभी उप मुख्य चिकित्साधिकारी व एम0ओ0आई0सी0 उपस्थित रहे।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.