मीरजापुर-जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने सभी उप जिलाधिकारी/तहसीलदारों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद बनाये गये सभी 37 बाढ़ चैकियों को कल से ही सक्रिय कर दिया जाये। सभी चैकियों पर कर्मचारियों की तैनाती आज ही कर दे। जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट सभागार में बाढ़ से बचाने के लिए की गयी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होने कहा कि आज लालगंज, मड़िहान तहसीलों में अप्रत्यिाशित अतिवृष्टि से कई गाॅव पानी से घिर जाने से लोगों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है। जिलाधिकारी आज प्रातः लालगंज में दैवी आतिवृष्टि के कारण आये बाढ़ का निरीक्षण करने प्राः 6.00 बजे ही बाढ़ प्रभावित ग्राम बामी, लहंगपुर, तुलसी, नदनी नई बस्ती में पहुॅचकर लोगों को बाढ़ से निकालने के लिए व्यवस्था करायी। उन्होने अपर जिलाधिकारी तथा संबंधित उप जिलाधिकारी, तहसीलदार को तत्काल राजस्व कर्मियों के साथ बाढ़ प्रभावित ग्रामों में पहुॅचने का निर्देश दिया।
जिलाधिकारी ने सभी बाढ़ चैकियों पर मिटटी का तेल, माचिस खानपान आदि की व्यवस्था माॅग के अनुसार मुहैया कराये। सभी तहसीलों में सेफ्टी हेलमेट, सर्चलाइट आदि सुनिश्चित करा ले तथा सर्चलाइट आदि की बैटरी चेक करा ले। बाढ़ में फसे लोगों को बाहर निकालने के लिए बड़ी व मझली नावों की व्यवस्था सुनिश्चित कराये। पशुओं को बाधने क लिए स्थान चिन्हित कर ले। वहाॅ वहां पर भूसा , चारा आदि की व्यवस्था कर लिया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी विभाग एक नोडल अधिकारी बनाएं तथा उसका नाम, मोबाइल नम्बर व घर का पता का सूची बनाकर सभी उप जिलाधिकारी को उपलब्ध कराये। तहसीलदार सभी लेखपालों को अपने क्षेत्रों में रहने का निर्देश दे, यदि बाढ़ के समय गाॅव में लेखपाल नहीं पाया जाता हैं तो कार्यवाही की जायेगी। इसीप्रकार ग्राम स्तरीय अधिकारी/कर्मचारी गाॅवों में उपस्थित रहेगें। उन्होने कहा कि लोक निर्माण विभाग सभी बाढ़ प्रभावित मार्गो का निरीक्षण कर पहॅुच मार्ग का नक्शा उपलब्ध करायें। सभी बन्धियों पर कर्मचारी तैनात किये जाये। मुख्य चिकित्साधिकारी सभी पीएचसी/सीएचसी पर जीवन रक्षक दवाइयाॅ एवं चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराये। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी आज के दैवी आपदा में जितने गाॅवों में घटना हुई हैं मरे पशुओं का पोस्ट मार्डम करवा कर दफनाने की व्यवस्था कराये। उन्होने कहा कि बाढ़ से प्रभावित घरों व अन्य सामानों में नुकसान का आंकलन संबंधित कर्मचारी से कराना सुनिश्चित कराये। इस कार्य हेतु संबंधित जन प्रतिनिधियों से भी वार्ताकर जानकारी प्राप्त की जाये। आज के दैवी आपदा में देहान्त हुएं व्यक्तियों का पोस्ट मार्डम तत्काल कराने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि सिचाई विभाग यह नक्शा बनाकर दे कि कहा से पानी आता हैं और उससे कौन-कौन गाॅव प्रभावित होता है।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी, मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन, अपर जिलाधिकारी विजय बहादुर, संयुक्त मजिस्ट्रेट अश्वनी कुमार पाण्डेय, सभी उप जिलाधिकारीगण, तहसीलदारगण सहित सभी विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।