ट्रेन यात्रीयो को अनहोनी से बचाने जीआरपी ने शुरू की नई पहल-

अन्य जीआरपी थाने भी कर सकते है यह प्रयोग
कोच अटेंडेंट टीटीई न दे अनधिकृत प्रवेश, आकस्मिक का लेकिन आईडी व मोबाइल नंबर
मिर्जापुर। जीआरपी थाने के प्रभारी निरीक्षक समर बहादुर ने वीआईपी ट्रेनो और एसी कोचो मे यात्रीयो के भयमुक्त यात्रा की व्यवस्था देने के लिए कुछ नये प्रयोग किये जा रहे है। इनके इस प्रयोग से निश्चित रूप से भारतीय रेल्वे की सहज एवं सुखद यात्रा की संकल्पना इलाहाबाद मुगलसराय रेल्वे प्रखंड प्रमुख गुजरने वाली अधिकांश ट्रेन के यात्रीयो के लिए साकार होती नजर आ रही है। यही नही भारतीय रेलवे के विभिन्न जीआरपी थानो के प्रभारी भी इनके नक्शे कदम पर चलकर यात्रीयो को ट्रेन मे चोरी, लूट, छिनैती जैसी घटनाओ से पूरी तरह बचा सकते है। जीआरपी थानाध्यक्ष समर बहादुर ने मिर्जापुर से गुजरने वाली मूरी एक्सप्रेस, ताप्ती गंगा एक्सप्रेस, चोपन गोमो, महानंदा एक्सप्रेस, चंबल एक्सप्रेस व त्रिवेणी एक्सप्रेस समेत अन्य सभी ट्रेन जिन पर मिर्जापुर की जीआरपी स्कोर्ट करती है। सभी ट्रेनो के टीटीई को एक नोटिस रिसीव कराया है कि बिना टिकट के एसी कोच मे उनके द्वारा अनधिकृत लोगो को प्रवेश न दिया जाय। जब कभी कोई ऐसा व्यक्ति जो एसी मे पेनाल्टी भुगतान करके जाना हो चाहता हो तो उसकी आईडी व प्रमाणित मोबाइल नंबर अवश्य ले और अपने जमा किये जाने वाले बुकलेट पर उस व्यक्ति का विवरण भ्रष्टाचार दे। ताकि कभी भी किसी कोच मे कोई घटना हो तो रिजर्वेशन यात्रीयो के अलावा ट्रेन मे चढे लोगो के विवरण से तहकीकात की जा सके। ऐसा करने से ट्रेनो मे चोरी, लूट, छिनैती जैसी घटनाओ को अंजाम देने के लिए चढने वाले अपराधी प्रवेश नही कर सकेंगे और यदि चढ़ भी गये तो उनका पूरा विवरण होने के कारण कुछ भी करने से डरेंगे। बताते चले कि थ्री टायर एसी मे हर दो कोच पर दो अटेंडेंट और टू टायर एसी मे हर तीन कोच पर दो अटेंडेंट की व्यवस्था रेल्वे ने कर रखा है। अटेंडेंट की यह जिम्मेदारी होती है कि कोच मे अनधिकृत व्यक्ति को प्रवेश न दे और जिन यात्रीयो का गंतव्य आ चुका हो, उन्हे सूचित कर उतरने को भी बोले।

ट्रेन की कोचो मे अनधिकृत लोगो को प्रवेश देने से बचे टीटीई और कोच अटेंडेंट

प्रभारी निरीक्षक समर बहादुर ने बताया कि ऐसी सभी ट्रेन जिस पर मिर्जापुर की जीआरपी स्कोर्ट करेगी। ट्रेन की एसी कोच मे स्कोर्ट कर रहे लोगो के नाम पर और मोबाईल नंबर दृष्टव्य स्थान पर नियमित रूप से चस्पा किये जाएंगे। और यात्रीयो को भी सूचित किया जाएगा कि हम आपको स्कोर्ट कर रहे है। हमारा नंबर कोच मे चस्पा है। किसी प्रकार की कोई दिक्कत हो तो आप सब तत्काल हमेशा फोन से सूचित करे। ऐसा करने से यात्रीयो मे भय एवं आशंका यात्रा के दौरान नही होगी। बता दे कि एक प्रभारी निरीक्षक, पांच उपनिरीक्षक, 2 एचसीपी और 46 कॉन्स्टेबल वाले मिर्जापुर जीआरपी से प्रतिदिन प्रत्येक ट्रेन मे अमूमन तीन कांस्टेबल स्कोर्ट करते है। यही नही खुद प्रभारी निरीक्षक भी इनके दिनो ट्रेन को सादे मे स्कोर्ट कर रहे है और मिलने वाले संदिग्ध लोगो से पूछताछ कर उनके विरुद्ध कार्रवाई भी कर रहे है। इस नई पहल को पूरि तरह से अमली जामा पहनाने के लिए विशेष तत्परता बरती जा रही है।

Editor-in-chief of this district based news portal.

Comments are closed.