समाचारप्रमुख स्थानो पर डस्टबीन रखवाये- जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे

प्रमुख स्थानो पर डस्टबीन रखवाये- जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे

सभी गाॅव में डस्टबीन रखने का निर्देश
मीरजापुूर- जिलाधिकारी बिमल कुमार दूबे ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रत्येक गाॅव के प्रमुख स्थानो पर डस्टबीन रखवाये। उन्होने यह भी कहा कि गाॅव को ओडीएफ घोषित कराने के लिए गाॅव के ग्राम पंचायत अधिकारियों के साथ सफाई कर्मी, आगनवांडी कार्यकत्री, चैकीदार तथा स्कूल के अध्यापको के साथ गाॅव के पाॅच मानिन्द लोगो को जोड़ते हुए स्वच्छता समिति बनाये तथा गाॅव को स्वच्छ बनाने में सभी का सहयोग प्राप्त करें। जिलाधिकारी आज कलेक्ट्रेट सभागर में जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेंट कमेटी जी0पी0डी0पी0 अन्तर्गत जिला समन्यवयन एवं क्रियान्वयन समिति की बैठक के दौरान उक्त निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने 31 अगस्त 2017 तक शौचालय बनाने के लिए दिये गये लक्ष्य को पूरा न करने वाले ग्राम विकास अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि आगामी 15 सितम्बर तक अवशेष शौचालयों को पूरा न करने पर संबंधित ग्राम पंचायत अधिकारी के विरूद्ध निलंम्बन की कार्यवाही की जा सकती हैं। एडीओ छानवे, के द्वारा 1300 सिटी के तीन गाॅव में 250 व पहाड़ी के एक गाॅव में 245 शौचालय अपूर्ण पाये जाने पर संबंधित एडीओ पचायत के साथ-साथ जिला कोआर्डिनेटर व ब्लाक कोआर्डिनेटरो को भी कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि गाॅव में भ्रमण कर शौचालयों को पूर्ण कराये अन्यथा लक्ष्य पूरा न होने पर उनके विरूद्ध भी कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने यह भी कहा कि 94 निगरानी समितियों का गठन किया गया है, जो पूर्णतः निष्कृय साबित हो रही है, उन्हे सक्रिय करते हुए लक्ष्य को पूरा कराया जाये, काम न करने वाले निगरानी समिति के सदस्य को हटाकर दूसरे को शामिल किया जाये।
बैठक में उपस्थित ग्राम प्रधानो से जिलाधिकारी ने कहा कि ग्राम प्रधान जनप्रतिनिधि हैं वे केवल सामाजिक कार्य में सहयोग करें शौचायल व आवास निर्माण में ठेकेदार की भूमिका न निभाएं। शौचालय हेतु ईट, बालू व अन्य सामग्री की उपलब्धता ग्राम पंचायत अधिकारी सुनिश्चित करायेंगे। ग्राम प्रधान व गाॅव के अन्य बृद्धिजीवी वर्ग शौचालय निर्माण व उसके उपयोग तथा खुले में शौच मुक्त गाॅव बनाने के प्रति जन अभियान का कार्य करें। जिलाधिकारी ने गंगा के किनारे वाले गाॅव में 1900 अधूरे शौचालयों को भी 15 सितम्बर तक पूरा करने का निर्देश दिया। जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि जीवो टैंगिंग व फोटो अपलोड़ करने वाले संविदा कर्मियो की समीक्षा करें वे 40 फोटो व 50 एमआईएस तथा माह के पूरे लक्ष्य के 60 प्रतिशत कार्य पूरा न करने वाले कर्मी की सेवा समाप्त करने की कार्यवाही करें।
ग्राम सभाओं में 3395 हैण्डपम्पों के रिबोर करने के लिए अभियान चलाकर तीन माह के अन्दर पूरा करने का निर्देश अधिशासी अभियन्ता जल निगम को दिया। बेसिक शिक्षा अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी से कहा कि जिस स्कूल में व आंगनवांड़ी केन्द्रो पर शौचालय न हो उसकी सूची तत्काल उपलब्ध कराये तथा जहाॅ पर शौचालय हैं उसे माण्डल शौचालय बनाये। उन्होने यह भी कहा कि प्रत्येक स्कूल में एक अध्यापक को स्वच्छता नोड़ल अध्यापक के रूप में नामित करें वे अध्यापक स्कूल व आंगनवांड़ी शौचालय के सफाई साथ-साथ गाॅव के सफाई कर्मी के माध्यम से करवायेगा तथा नोड़ल अध्यापक के प्रमाण पत्र निर्गत करने के बाद ही सफाई कर्मी का वेतन आहरित किया जायेगा।
जिलाधिकारी ने इसके बाद सांसद निधि द्वारा कराये जा रहे कार्यो की प्रगति के बारे में संबंधित कार्यदायी संस्था से जानकारी प्राप्त की तथा कहा कि दिये गये समय के अन्तर्गत कार्य पूरा कराये। उन्होने यह भी कहा कि यदि किसी कार्य स्थल में बदलाव करना हो तो मा0 सांसद महोदय को पत्राचार कर अवगत कराये।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन, परियोजना निदेशक डा0 हरिचरन सिंह, जिला पंचायत अधिकारी बालेशधर द्विवेदी, आर0ई0एस0, बेसिक शिक्षा अधिकारी के अलावा सभी ग्राम पंचायत अधिकारी उपस्थित रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

- Advertisement -Newspaper WordPress Theme

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं