समाचारकुष्ठ रोग छुआछूत का रोग नहीं

कुष्ठ रोग छुआछूत का रोग नहीं



मीरजापुर। – उ०प्र० राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के प्लान आफ एक्सन के तहत जनपद न्यायाधीश अनमोल पाल के निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मीरजापुर के तत्वावधान में कंतित शरीफ के सालाना उर्स मेला में राष्ट्रीय कुष्ठ रोग दिवस के अवसर पर कुष्ठ रोग निवारण एवं विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन दिनांक 30-01-2023 को किया गया। शिविर के मुख्य अतिथि अपर जिला जज, एफ.टी.सी. / सचिव डीएलएसए लाल बाबू यादव एवं मुख्य चिकित्साधिकारी डा० राजेन्द्र प्रसाद द्वारा फीता काटकर शिविर का उद्घाटन किये। शिविर का संचालन हाजी अमानुल्लाह अन्सारी वरिष्ठ अधिवक्ता ने किया ।

सचिव / मुख्य अतिथि लाल बाबू यादव ने सम्बोधित करते हुए कहा कि कुष्ठ रोग जीवाणु से फैलता है जो कि पूर्णतया ठीक होने वाला रोग है, सफेद दाग कुष्ठ रोग नहीं होता है और यह रोग पूर्व जन्म का पाप या अभिशाप नहीं है यह एक प्रकार का रोग है जिसका इलाज कराने से ठीक हो जाता है उन्होने यह भी बताया कि मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं है यही बात सूफी सन्त भी कहते है और न्याय पालिका भी इसको मानती है। हमें इसका सम्मान और हिफाजत करना चाहिए। कंतित हजरत चिस्ती के मजार पर कैम्प में न्याय एवं मुकदमों के अम्बार पर प्रकाश डालते हुए कहा कि न्याय चला निर्धन से मिलने, सस्ता एवं सुलभ न्याय पाने के लिए एक अच्छा मंच सर्वोच्च न्यायालय नई दिल्ली द्वारा बनाया गया है इस लाभ लेना चाहिए। सुलह-समझौता के आधार पर मुकदमों का त्वरित निस्तारण और लोक अदालत के माध्यम से मुकदमों के निस्तारण से न्यायालयों में लम्बित मुकदमों का बोझ कम किये जा सकते है का सुझाव एवं लोक अदालत के लाभ के बारे में जानकारी दिए और कहा कि दिनांक 11 फरवरी 2023 दिन शनिवार को दीवानी न्यायालय परिसर में सुबह 10.30 बजे राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा है, सभी लोग लोक अदालत में उपस्थित होकर अपने-अपने विवादों का निस्तारण कराकर लाभान्वित हो सकते है। उन्होने यह भी बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के माध्यम से गांव गांव, शहरो मेलो इत्यादि स्थानों पर आमजनता के मध्य जागरूकता लाने हेतु विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया जाता है और पति पत्नी के वैवाहिक विवाद जो अभी न्यायालय में दाखिल नहीं किये गये है उनके विवादों आपसी समझौता के माध्यम से निस्तारण कराया जाता है एवं असहाय गरीब जनता जिनकी आय 3 लाख रूपये से कम हो, उनके मुकदमें में पैरवी करने के लिए जिला प्राधिकारण की ओर से निःशुल्क सरकारी अधिवक्ता उपलब्ध कराये जाते है, उसकी प्रकिया को विस्तार से बताये और इससे सन्दिर्भत में पम्फलेट भी आम जनता को वितरित कराये।

कुष्ठ रोग एवं विधिक जागरूकता शिविर में मुख्य चिकित्साधिकारी डा० राजेन्द्र प्रसाद एवं जिला कुष्ठ / नोडल डा० ए०के०राय, डा० वीरेश चौधरी डा० यूथेन सिंह ने बताया कि कुष्ठ रोग छूआ छूत का रोग नहीं है इस रोग का इलाज है इसे जड़ से समाप्त किया जाना है और विकलागंता से बचा जा सकता है। कुष्ठ रोग को जड़ से समाप्त करने के लिए शिविर में उपस्थित अधिकारीगण, आमजनो, जायरीनो एवं आमजन को शपथग्रहण भी कराये। उन्होने बताया कि कुष्ठ रोग निवारण के लिए जागरूकता अभियान पखवारा 30 जनवरी से 13 फरवरी 2023 तक घर-घर चालाया जा रहा है इस अभियान में जनता का पूर्ण सहयोग किये जाने की अपील किए।

उक्त अवसर पर वक्फ नं0 42 के अध्यक्ष शौकत अली, वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेश कुमार त्रिपाठी, महबूब आलम, विष्णु सिंह, व० सहायक दीपक श्रीवास्तव, मो0 इरफान अहमद, अब्दुल आदिल, शाबिर अली, नेहाल अहमद, नियामत उल्ला सिद्दीकी, एखलाख अहमद, मो० समीम, जयप्रकाश, ओम प्रकाश, कुसुम गुप्ता मधु श्रीवास्तव, कल्पना यादव रेखा मौर्या, प्रदीप श्रीवास्तव, सोनू राय, पुलस्त द्विवेदी, राहुल गुप्ता, अमरेन्द्र सिंह, बहुत से लोग उपस्थित होकर शिविर में सहयोग एवं जानकारी दिए ।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं