समाचारग्राम पंचायतो में पेयजल आपूर्ति की वास्तविक स्थिति के सत्यापन हेतु ब्लाकवार...

ग्राम पंचायतो में पेयजल आपूर्ति की वास्तविक स्थिति के सत्यापन हेतु ब्लाकवार की गयी बैठक

मीरजापुर 19 जून 2024- जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन के निर्देश के क्रम में मुख्य विकास अधिकारी विशाल कुमार ने जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद के समस्त ग्रामों में पेयजल आपूर्ति की वास्तविक स्थिति के सत्यापन के लिए सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि विकास खण्डवार ग्राम प्रधानों एवं ग्राम सचिवों की बैठक करायी जाय। इस क्रम में विगत दिनो विकास खण्ड राजगढ़ की बैठक विकास भवन में मुख्य विकास अधिकारी, मीरजापुर की अध्यक्षता में आयोजित की गयी, जिसमें 40 ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानगण/प्रतिनिधि, 14 ग्राम पंचायतों के ग्राम विकास अधिकारी/सचिव, ए0डी0ओ0 पंचायत एवं सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी तथा अपर जिलाधिकारी, नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति, मीरजापुर, अधिशासी अभियन्ता, उ0प्र0 जल निगम (ग्रामीण) एवं सम्बन्धित कार्यदायी फर्मों के परियोजना प्रबन्धक उपस्थित रहे। समस्त ग्राम पंचायतों में पेयजल आपूर्ति में पायी गयी कमियों को एक सप्ताह में ठीक कराने हेतु कार्यदायी फर्म मे0 मेघा इंजीनियरिंग लिमिटेड को निर्देशित किया गया।
इसी क्रम में निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में विकास खण्ड पटेहरा कलां में जल जीवन मिशन कार्यक्रम के अन्तर्गत पेयजल आपूर्ति व्यवस्था की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। जिसमें कुल 17 ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधान/प्रतिनिधि, 08 ग्राम पंचायतों के ग्राम विकास अधिकारी/सचिव, सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) एवं खण्ड विकास अधिकारी बीरभानू सिंह, अपर जिलाधिकारी, नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति, मीरजापुर, अधिशासी अभियन्ता, खण्ड कार्यालय, उ0प्र0 जल निगम (ग्रामीण), मीरजापुर तथा कार्यदायी फर्म मे0जी0वी0पी0आर0 इंजीनियर्स लिमिटेड के प्रोजेक्ट मैनेजर सेन्थिल कुमार अपनी टीम के साथ उपस्थित रहे। गहन समीक्षा के दौरान पाया गया कि लगभग आधे दर्जन ग्राम पंचायतों में 80 से 90 प्रतिशत घरों में जलापूर्ति की जा रही है शेष ग्राम पंचायतों में 40-60 प्रतिशत घरों में जलापूर्ति हो रही है, कुछ ग्रामों में पाइप लाइन चोक होने, लीकेज होने तथा अन्य कार्यदायी संस्थाओं द्वारा पाइप लाइन क्षतिग्रस्त किये जाने की शिकायतें प्राप्त हुयी जिसे अविलम्ब ठीक कराने हेतु कार्यदायी फर्म को निर्देशित किया गया। 24 राजस्व ग्रामों में जलापूर्ति प्रारम्भ नहीं की जा सकी है। इस सम्बन्ध में पृच्छा करने पर कार्यदायी फर्म द्वारा अवगत कराया गया कि उपरोक्त ग्रामों में पाइप लाइन टेस्टिंग एवं कमीशनिंग का कार्य प्रगति पर है। इसके अतिरिक्त पेयजल योजना के जल स्रोत सिरसी जलाशय में पर्याप्त जल उपलब्ध न होने के कारण प्रगति बाधित है, जलाशयों में पर्याप्त जल उपलब्ध होने पर तीव्रता के साथ शेष ग्रामों में कमीशनिंग का कार्य पूर्ण कर जलापूर्ति प्रारम्भ कर दी जायेगी। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा कन्सलटेन्सी एजेन्सी पी0एम0सी0. टी0पी0आई0 एवं जल निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि स्थलीय निरीक्षण करते हुये समस्त कमियों को प्राथमिकता के आधार पर दूर करें।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं