समाचारजिलाधिकारी ने किया बाढ क्षेत्र का भ्रमण-राहत पहुॅचाने का निर्देश-MIRZAPUR

जिलाधिकारी ने किया बाढ क्षेत्र का भ्रमण-राहत पहुॅचाने का निर्देश-MIRZAPUR

लेखपाल को बाढ प्रभावित घरोे की सूची न बनाने पर स्पष्टीकरण

मीरजापुर,18 सितम्बर, 2019- जिलाधिकारी अनुराग पटेल आज गंगा नदी में जल स्तर बढने पर प्रभावित गांवों का भ्रमण कर जायजा लिया। जिलाधिकारी सबसे पहले कोन विकास खण्ड के ग्राम मल्लेपुर में जाकर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व यू0पी0 सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0 सिंह, उप जिलाधिकारी सदर गौरव श्रीवास्तव, डिप्टी कलेक्टर श्री भारत, जिला सूचना अधिकारी ओम प्रकाश उपाध्याय तथा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के अलावा अन्य सम्बंधित अधिकारियों के साथ पहुॅच कर ग्रामीणों से मिलकर उनकी समस्याओं को सुना तथा नाव सवार होकर बाढ के इलाकों में भ्रमण कर प्रभावित घरों व फसलों को देखा। इस दौरान जिलाधिकारी के पहुॅचने परजग लेखपाल व राजस्व निरीक्षक द्वारा प्रभावित घरों की सूची मांगी गयी तो सूची नहीं बनाये जाने पर कडी फटकार लगाते हुये राजस्व निरीक्षक व लेखपाल को शाम तक सूची बनाकर उपलब्ध कराने को कहा गया। भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी नाव द्वारा मल्लेपुर, हरसिंहपुर, मवैया, चील्ह आदि गांवों का भ्रमण किया। इसके पूर्व जिलाधिकारी द्वारा गांव के गलियों में जाकर बाढ प्रभावित घरों को देखा गया। जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी सदर को निर्देशित किया कि दो बडी नाव लगाकर प्रभावित घरों के सामानों को निकलवायें। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि बाढ चैकी या गांव के पास ही जीवनोपयोगी दवाइयों के साथ कैम्प लगाया जाये। इसी प्रकार मुख्य प्श्षु चिकित्साधिकारी को निर्देथ्शत किया कि प्रशुओं को टीकरण व उनके रहने हेतु आश्रय स्थल तथा खाने के लिये चारे आदि की व्यव्स्था की जाये। इस दौरान ग्रामीणों के द्वारा बताया कि मल्लुपुर में लगभग 11 घरों में पानी भर गया है। यह भी बताया कि गांव के हरीशंकर यादव, ललई यादव, दुर्गेश, शिवशकर, रमाशंकर, लल्लू, रामदास, भाईलाल आदि लोगों के घरों में पानी पहुूॅच गया है। जिलाधिकारी ने बाढ चैकियों पर कर्मचारियों को रात व दिन 24 घंटे तैनात रहने के निर्देश अपर जिलाािकारी को दिया गया।

इसके बाद जिलाधिकारी चुनार तहसील अन्तर्गत सीखड विकास खण्ड के ग्राम धनैता, मझराकला में जाकर बाढ प्रभावित लोगों व फसलों का जायजा लिया गया। यहां पर उप जिलाधिकारी चुनार आशुतोष दुबे के द्वारा बताया गया कि गांव में अभी घरों में पानी नहीं आया है परन्तु फसलों का काफी नुकसान हुआ है। गंगा नदी के लगभग 5-6 किलोमीटर की एरिया में पानी आने से फसल डूब गये हैं। ग्रामीणों के द्वारा बताया गया कि यहां पर मिर्चा, मोमफली, तिल्ली बाजरा सहित अन्य फसल बोये गये थे जिसमें लगभग 4-5 फिट तक पानी भरने से फसल डूब गये हैं। दस दौरान जिलाधिकारी द्वारा ग्राम सभा बामी सहित अन्य गांवों में नाव पर सवार होकर बाढ प्रभावित क्षेत्र का जायजा लिया गया। इसके बाद विधायक चुनार से सम्पर्क कर राहत आदि के बारे में जानकारी दी। जिलाधिकारी अधिकारियों के साथ जमालपुर माफल, लल्ली का मडई पर जाकर भी बाड प्रभावित क्षेत्र का भ्रमण किया गया। इस दौरान लल्ली की मडर्द तथा जमालपुर माफी के मध्य रपटा में लगभग 8 फिट पानी भरने से रास्ता बन्द हो गया है जिलाधिकारी ने यहां पर नाव की संख्या बढाने का निर्देष दिया। ताकि आवामगन बना रहे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं

- Advertisement -