समाचारमिर्जापुर पुलिस कप्तान ने अपने पुराने विद्यालय में पढ़ाये यातायात के पाठ-MIRZAPUR

मिर्जापुर पुलिस कप्तान ने अपने पुराने विद्यालय में पढ़ाये यातायात के पाठ-MIRZAPUR

आज मिर्जापुर पुलिस कप्तान डॉ धर्मवीर सिंह जब अपने पुराने विद्यालय में यातायात पाठ छात्रों को पढ़ा रहे थे तब थोड़ी देर के लिए पुलिस कप्तान खुद एक छात्र होने का एहसास करने लगे थे क्योंकि उनके बगल में उनके पुराने शिक्षक की उपस्थिति से उन्हें छात्र होने का भी एहसास दिला रहे थे ।आज जब बी सुंदरपुर स्थित आदर्श इंटर कॉलेज में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में यातायात माह कार्यक्रम के तहत डॉ धर्मवीर सिंह मिर्जापुर पुलिस कप्तान ने बताया कि वह भी इसी विद्यालय के छात्र रह चुके हैं ।उसके बाद जब एआरटीओ रवि कांत शुक्ला माइक संभालने का मौका मिला तो उन्होंने वहां पर मौजूद तमाम छात्रों को पढ़ने के गुर सिखाने के साथ-साथ यातायात के नियमों को भी जानकारी उपलब्ध कराई लेकिन साथ में छात्रों को एहसास कराया कि वह भी पढ़ाई में मन लगाकर अपने विद्यालय में इसी तरीके से मुख्य अतिथि का रोल कर सकते हैं ।जब आदर्श इंटर कॉलेज विद्यालय के अध्यापकों ने डॉ धर्मवीर सिंह को श्रीमान शब्द से संबोधन किया तो सरल स्वभाव के धनी धर्मवीर सिंह संकोच में पड़ गए और थोड़ी देर संकोच में पड़े रहने के बाद जब माइक पर बोलना शुरू किया तो उस संकोच के बारे में भी सार्वजनिक रूप से उन्होंने इसका एहसास भी लोगों तक रखा ।कहा कि जब गुरुजन अपने शिष्य को श्रीमान कहे तो भले ही समाज इसको सम्मान के रूप में देखता है लेकिन छात्र के लिए यह अच्छा लक्षण नहीं मानते ।काफी देर तक विद्यालय प्रांगण को निहारने के बाद अपने पुराने कक्षा रूम में जाकर बैठे और अपने पुराने यादों को मौजूद अध्यापक व कॉलेज के व्यवस्थापक के साथ बैठकर साझा किया ।लोगों को हेलमेट दिया गया पुलिस कप्तान ने प्रतीकात्मक हेलमेट देने के बाद अपेक्षा किया कि लोग हेलमेट लगाना अब नहीं भूलेंगे। पुलिस कप्तान ने कहा कि सब लोग एक दूसरे से कहते हैं कि हेलमेट लगाना चाहिए हेलमेट लगाना चाहिए लेकिन सबसे पहले अपने से ही शुरुआत लोगों को करना चाहिए।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं

- Advertisement -