समाचारमिर्जापुर के मेडिकल कॉलेज में निर्माणाधीन छात्रावास में घटिया सामग्री लगाए जाने...

मिर्जापुर के मेडिकल कॉलेज में निर्माणाधीन छात्रावास में घटिया सामग्री लगाए जाने पर मंडलायुक्त ने नाराजगी व्यक्त की



मण्डलायुक्त द्वारा मेडिकल कालेज में बैठक कर शिक्षण कार्य व निर्माण
कार्यो के प्रगति की समीक्षा कर ली गयी जानकारी

निर्माणाधीन पुरूष व महिला छात्रावास तथा किचन/भोजनालय कक्ष में खिड़कियों में
लगाये गये शीशे व लोहे की गुणवत्ता खराब पाये जाने व्यक्त की कड़ी नाराजगी

तक्काल खिड़कियों को बदलवाने का दिया निर्देश, अन्यथा की जायेगी वसूली की कार्यवाही

महिला अस्पताल में पुराने भवनों के ध्वस्तीकरण दृष्टिगत भी किया निरीक्षण

मीरजापुर 04 जनवरी 2023- मण्डलायुक्त विन्ध्याचल मण्डल डाॅ0 मुथुकुमार स्वामी बी0 द्वारा आज मांॅ विन्ध्यवासिनी स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय (मेडिकल कालेज) के सभागार में बैठक कर मेडिकल कालेज क्रियाशीलता एवं भौतिक निर्माण की अद्यतन स्थिति, मेडिकल कालेज एवं सम्बद्ध चिकित्सालयों में कार्यरत चिकित्सा शिक्षको/चिकित्सकों/कार्मिको व आउटसोर्सिंग कार्मिको सृजित एवं कार्यरत अथवा रिक्त पदों की अद्यतन स्थिति चिकित्सालयों में आवश्यक औषधियों एवं मांग के सापेक्ष आपूर्ति एवं उपलब्धतता, बजट की उपलब्धतता एवं व्यय की स्थिति, मेडिकल कालेज से सम्बद्ध 88 बेड जिला महिला चिकित्सालय के ध्वस्तीकरण एवं शिफ्टिंग किये जाने के सम्बन्ध में विस्तृत समीक्षा प्राचार्य मेडिकल कालेज व अन्य अधिकारियों के साथ की गयी। तदुपरान्त मण्डलायुक्त द्वारा मेडिकल कालेज में भ्रमण कर सड़को की स्थिति पुरूष एवं महिला निर्माणाधीन छात्रावास व किचन/भोजनालय कक्ष का निरीक्षण किया गया। छात्रावास में निरीक्षण के दौरान शौचालय/टायलेट के ऊपर लगाया गया पाइप से पानी टपकने की शिकायत प्राचार्य मेडिकल कालेज द्वारा मण्डलायुक्त को बताया गया कि जिस पर मण्डलायुक्त द्वारा परियोजना प्रबन्धक राजकीय निर्माण निगम तथा सम्बन्धित कांट्रैक्टर को कड़ी फटकार लगाते हुये मरम्मत कराने का निर्देश दिया गया। मण्डलायुक्त ने प्राचार्य को निर्देशित किया कि उनके द्वारा एक बार पुनः सभी छोटे बड़े कार्यो का निरीक्षण कर पाये गये कमियों की सूची बनाकर प्रोजेक्ट मैनेजर को उपलब्ध करा दिया जाय तथा प्रोजेक्ट मैनेजर के द्वारा एक माह के अन्दर सभी कमियों को दूर कर अवगत कराया जाय। किचन, भोजनालय कक्ष में लगायी गयी खिड़कियों की लोहे के स्ट्रैक्चर व शीशा की गुणवत्ता काफी खराब पाये जाने पर मण्डलायुक्त द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये प्रोजेक्ट मैनेजर राजकीय निर्माण निगम को निर्देशित किया गया कि सभी खिड़कियों को तत्काल बदलवाकर दूसरा लगाये अन्यथा सम्बन्धित से वसूली की कार्यवाही की जायेगी। पुरूष व महिला छात्रावास में दीवाल के अन्दर बनाये गये अलमीरा/अलमारी में रैक न बनाये जाने परभी कडी नाराजगी व्यक्त करते हुये 15 फरवरी 2023 तक सभी अलमारियेां में रैक बनाने का निर्देश दिया गया। प्रोजेक्ट मैनेजर राजकीय निर्माण निगम द्वारा बताया गया कि मेडिकल कालेज के अन्दर सड़को के निर्माण व खाली भूमि समतलीकरण का कार्य पूर्व में बनाये गये ले आउट में शामिल नही किया गया था जिसका पुनः प्रस्ताव बनाकर शासन से बजट की मांग की गयी है। मण्डलायुक्त ने कहा कि उनके स्तर से भी पत्राचार कर रिमाइंडर भेजते हुये पैरवी कर बजट अवमुक्त कराया जाय। निरीक्षण के दौरान छात्र-छात्राओं के लिये बन रहे भोजन का भी िनरीक्षण मण्डलायुक्त द्वारा किया गया। इस दौरान छात्रावास में रह रहे एक मेडिकल छात्र से वार्ता कर मेडिकल कालेज की सुविधाओं के बारे में जानकारी ली गयी।
निरीक्षण के पूर्व बैठक में प्राचार्य मेडिकल द्वारा मण्डलायुक्त का स्वागत करते हुये मेडिकल कालेज के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी गयी। उनके द्वारा बताया गया कि मांॅ विन्ध्यावासिनी स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय नवीन परिसर में प्रथम एल0ओ0पी0 से सम्बन्धित सभी कार्य पूर्ण हो चुके हैं तथा प्रधानमंत्री के द्वारा विगत 25 अक्टूबर 2021 को राजकीय मेडिकल कालेज का लोकार्पण किया गया था उन्होने बताया कि प्रथम सत्र कक्षाए अपने भवन में संचालित हैं एवं विद्यार्थियों द्वारा हास्टलो में अध्यासन प्राप्त किया जा चुका हैं। निर्माणाधीन मेडिकल कालेज से सम्बद्ध जिला चिकित्सालय मीरजापुर में स्थित 88 सय्या अस्पताल का ध्वस्तीकरण प्रशासनिक विभाग द्वारा किया जाना था जो कि काफी समय से लम्बित था जिसके निस्तारण हेतु जिलाधिकारी मीरजापुर द्वारा 88 सय्या अस्पताल को 145 सय्या अस्पताल में स्थानान्तरित किये जाने हेतु शासन को पत्र प्रेषित किया जा चुका हैं तथा अग्रिम कार्यवाही शासन स्तर पर लम्बित हैं। पुराने परिसर हेतु प्रस्तावित निर्माण कार्यो के सापेक्ष भूमि उपलब्ध न होने के कारण वर्तमान समय तक प्राप्त भौतिक प्रगति 72 प्रतिशत को आगे बढ़ाये जाने में कठिनाई उत्पन्न हो रही है। उन्होने बताया कि वर्तमान में पुराने जिला महिला चिकित्सालय परिसर में जूनियर एवं सीनियर रेजीडेन्ट एवं नर्सेज हास्टल के निर्माण कार्य हेतु चिन्हित स्थान पर निर्मित पुराने भवनों का ध्वस्तीकरण की कार्यवाही पूर्ण हो चुकी हैं, और 85 सय्या अस्पताल के स्थानान्तरित किये जाने के उपरान्त ध्वतस्तीकरण की कार्यवाही प्रारम्भ की जायेगी। उक्त कार्यो को पुरानी स्वीकृत दरों (वर्ष 2017-18) पर कार्य करने हेतु सम्बन्धि कांट्रैक्टर असमर्थता व्यक्त की गयी उक्त प्रकरण को 12.07.2022 को शासन को संदर्भित किया जा चुका हैं। जिस निर्णय लम्बित हैं। उन्होने बताया कि रू0 158.23 करोड़ का उपयोगिता प्रमाण पत्र 29 जुलाई 2022 को प्राचार्य मेडिकल कालेज के द्वारा प्रतिहस्ताक्षरित कराते हुये अनु चिकित्सा शिक्षा अनुभाग-3 को प्रेषित किया जा चुका हैं।
उन्होने बताया कि प्रशासनिक भवन, एकेडिमक भवन, लेक्चर थियेटर, गल्र्स हास्टल, ब्याज हास्टल, इंटल फीमेल/मेल हास्टल, डायनिंग हाल, हास्पिटल ब्लाक, मल्टीपर्पज हाल, नर्सेज हास्टल, जूनियर एवं सीनियर रेजीडेन्ट परियोजना में प्रस्तावित कार्य हैं। उन्होने बताया कि प्राप्त धनराशि के सापेक्ष 82.95 प्रतिशत वित्तीय प्रगति तथा 72 प्रतिशत भौतिक प्रगति अभी तक किया गया हैं। सृजित पद के सापेक्ष उपलब्ध चिकित्सकों व कार्मिकों के बारे में भी जानकारी दी गयी। मण्डलायुक्त ने कहा कि मेडिकल कालेज से सम्बद्ध अस्पतालों में औषधियों की उपलब्धतता सुनिश्चित किया जाय तथा छात्र छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध कराया जाय। मल्टीपर्पज हाल एवं छात्रावासों मंे अलमारियों में रैक लगाने का कार्य 15 फरवरी 2023 तक प्रत्येक दशा में सम्बन्धित कार्यदायी संस्था पूर्ण कर लिया जाय। मेडिकल कालेज के बाउन्डीवाल को भी ऊचा करने हेतु प्रस्तान बनाने का निर्देश दिया गया। उन्होने कहा कि अधूरे निर्माण कार्यो में तेजी लाते हुये कार्य पूर्ण िकया जाय तथा प्राचार्य मेडिकल कालेज व कार्यदायी संस्था आपस में समन्वय स्थापित करते हुये सभी तकनीकी एवं बुनियादी सुविधाए उपलब्ध कराया जाय ताकि छात्रो को अच्छी शिक्षा प्रदान किया जा सकें। मण्डलायुक्त द्वारा तदुपरान्त जिला महिला चिकित्सालय में भ्रमण कर ध्वस्तीकरण व शिफ्टिंग के बारे में निरीक्षण कर जानकारी प्राप्त की गयी। बैठक में संयुक्त विकास आयुक्त सुरेश चन्द्र, प्राचार्य मेडिकल कालेज डाॅ0 आर0बी0 कमल, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ राजेन्द्र प्रसाद, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ संजय पाण्डेय, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक मण्डलीय अस्पताल के अलावा मेडिकल कालेज सभी प्रवक्ता उपस्थित रहें।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं