समाचारमिर्जापुर में भव्यता व दिव्यता के साथ हरि शंकरी सप्ताह का समापन

मिर्जापुर में भव्यता व दिव्यता के साथ हरि शंकरी सप्ताह का समापन




मीरजापुर के विंधम फॉल रेंज में स्थित विन्धम पार्क में आज मुख्य वन संरक्षक रमेश चंद्र झा, के कर कमलों से हरि शंकरी का पौधा रोपण कर हरि शंकरी सप्ताह का समापन किया गया।
बताते चलें कि हरि शंकरी सप्ताह मनाने के दौरान वन विभाग के द्वारा 75 स्थानों का चयन किया गया था जहां एक साथ एक ही जगह 3 पौधे लगाए गए जिसमें पीपल पाकर और बरगद के पेड़ सीमित दूरी के साथ एक साथ विधि विधान और मंत्रोच्चार के साथ लगाए गए।
मुख्य वन संरक्षक ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि यह तीनों वृक्ष ब्रह्मा विष्णु महेश के निवास स्थान और महत्व के माने जाते हैं ।

जब यह पौधे विशाल वृक्ष का रूप लेंगे तो वातावरण में अन्य पेड़ों के मुकाबले में ज्यादा ऑक्सीजन उत्सर्जित करेंगे और साथ में वातावरण में मौजूद विषैले गैस को अपने अंदर अवशोषित करेंगे ।

इस प्रक्रिया से वातावरण ना सिर्फ शुद्ध होगा बल्कि जीवन दायनी भी बनेगा ।
उन्होंने कहा कि बिल्डम फॉल में लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं, और आने वाले समय में पर्यटकों के लिए कई प्रकार के औषधीय गुणों से भरपूर पेड़ों को लगाया जा रहा है ।
उन्होंने अपील किया कि पेड़ों की देखभाल सभी को करनी चाहिए यदि कहीं वृक्षारोपण हुआ है तो उस स्थान को विशेष महत्त्व देते हुए उसके संरक्षण के प्रति अपनी जिम्मेदारी और जवाबदेही तय करनी चाहिए ।
आगाह किया कि लगाए गए पौधों को किसी भी प्रकार की क्षति नहीं होनी चाहिए ताकि आने वाले वक्त में यही पेड़ हम सबको फल के अलावा ऑक्सीजन भी मुहैया कराता रहेगा ।

फिलहाल रुद्राक्ष के पेड़ बेल के नीम के चंदन के अलावा नवग्रहों से संबंधित नव प्रकार के अन्य पेड़ों का भी रोपण किया जा रहा है ।
कुछ पेड़ों को झरनों के किनारे विशेष प्रकार के पेड़ लगाए जाएंगे ताकि पर्यटकों के लिए भी सुरक्षा कवच बन सके, साथ में पूरे इलाके को विहंगम दृश्य देने के आशय से भी विभिन्न प्रकार के पेड़ों और पौधों का रोपण किया जा रहा है ।
पेड़ों की उपयोगिता के बारे में उन्होंने कहा कि सीधे तौर पर आज के परिवेश में जलवायु परिवर्तन को नियंत्रित करने का बहुत ही सस्ता और सरल तरीका है ।
कहा की वृक्षारोपण जिसमें हम सभी को बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए । वन विभाग के द्वारा लगाए गए तमाम पेड़ों में नेम प्लेट लगाए जाने की सराहना पर्यटकों के द्वारा भी किया गया, क्योंकि सभी पेड़ों पर पेड़ के स्थानीय नाम के साथ बॉटनिकल नेम भी लगाए जाने की सराहना स्थानीय लोगों के द्वारा किया गया है।
आज समापन के दौरान वन विभाग के कई अधिकारी और कर्मचारी भी मौजूद रहे बहुत ही उत्साह के साथ हरि शंकरी सप्ताह को मनाए जाने पर सभी कर्मचारियों के सहयोग की सराहना की गई।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं