समाचारकोचिंग में भयानक गुंडई, छात्र अधमरा, ट्रामा सेंटर में भर्ती - मिर्जापुर

कोचिंग में भयानक गुंडई, छात्र अधमरा, ट्रामा सेंटर में भर्ती – मिर्जापुर



मिर्जापुर ,
छात्रों को ऐसी कौन सी शिक्षा दी जा रही है जिसमें छात्र अपने दूसरे छात्र सहपाठी के खून के प्यासे हो जा रहे हैं।
घटना बीते बुधवार का है जहां 16 वर्षीय छात्र मोहित विश्वकर्मा को तब तक लोहे की रॉड से मारा गया जब तक छात्र को अधमरा नहीं किया गया इस खूनी खेल का वीडियो जिले में खूब वायरल हुआ।
खुलेआम कुछ छात्रों के द्वारा पढ़ाई में टॉपर मोहित विश्वकर्मा के ऊपर बेरहमी से लोहे की रॉड से निर्ममता पूर्वक हमला करते आसानी से देखा जा सकता है।
छात्र मोहित विश्वकर्मा के पिता अनीश विश्वकर्मा ने अपने बेटे के ऊपर हुए इस भयानक हमले से स्तब्ध ही नहीं बल्कि गहरे सदमे में भी हैं ।

घायल छात्र मोहित विश्वकर्मा के पिता अनीश कुमार विश्वकर्मा के मुताबिक उनके बेटे के साथ खूनी खेल खेलने वाले छात्रों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराने में दांतो तले लोहे के चने चबाने पड़े।

देहात कोतवाली और शहर कोतवाली के बीच सीमांकन का झाम सुलझाने के बाद अंततः सिटी कोतवाली में मामला पंजीकृत किया गया ।
घायल छात्र के पिता ने पत्रकार वार्ता के दौरान बताया कि आज भी उनको मुकदमा वापस लेने की धमकी दी जा रही है उन्होंने मांग किया कि मोहित विश्वकर्मा को अधमरा करने में जितने भी लोग सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहे हैं सबके खिलाफ कड़ी और संदेशआत्मक कार्रवाई पुलिस को करनी चाहिए ताकि भविष्य में शिक्षण संस्थान में किसी भी उपद्रवी छात्र की हिम्मत अन्य छात्र को लहूलुहान करने की न बन सके। समूचा शिक्षित समाज उपरोक्त घटना की निंदा कर रहा है। इलाके के लोग ऐसे कोचिंग सेंटर संचालक के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं काफी देर तक कोचिंग सेंटर में खूनी खेल चलता रहा ऐसे में सेंटर संचालक व अन्य स्टाफ की गैरमौजूदगी कई सवालों को जन्म देती है।
छात्र मोहित विश्वकर्मा के ऊपर जानलेवा हमले के बाद आरोपी छात्रों की गिरफ्तारी समाचार लिखे जाने तक ना होने से पढ़ने लिखने वाले छात्र आक्रोशित भी है मोहित और उसका समूचा परिवार सदमे में है। घायल छात्र के पिता ने बताया कि उनका पुत्र हमलावरों के आदेश का पालन नहीं किया जिसके चलते वर्चस्व और दादागिरी कायम रखने के उद्देश्य से मोहित विश्वकर्मा के ऊपर हमला हुआ है।
क्योंकि मोहित विश्वकर्मा ने हमलावरों के कहने पर दरवाजा बंद नहीं किया था इसलिए हमलावरों ने अपने आदेश की अवहेलना बर्दाश्त न कर सके और मोहित विश्वकर्मा के ऊपर जानलेवा हमला कर बैठे। सिटी कोतवाली ने छात्र के पिता की तहरीर पर देवांश तिवारी के नाम मुकदमा पंजीकृत किया है।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं

- Advertisement -