समाचारआगामी 18 फरवरी महाशिवरात्रि के मद्देनजर जिला प्रशासन की युद्ध स्तर पर...

आगामी 18 फरवरी महाशिवरात्रि के मद्देनजर जिला प्रशासन की युद्ध स्तर पर तैयारी शुरू




महाशिवरात्रि पर्व के दृष्टिगत जनपद में कानून व्यवस्था एवं सम्प्र्रदायिक सौहार्द बनाये रखने हेतु जिला मजिस्ट्रेट ने अधिकारियों को जारी किया आदेश

मीरजापुर 16 फरवरी 2023- आगामी दिनांक 18.02.2023 को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जायेगा। महाशिवरात्रि पर्व पर शिव भक्त/कावरियों द्वारा हरिद्वार (उत्तराखण्ड) सहित प्रदेश के विभिन्न स्थानों से गंगा आदि पवित्र नदियों का जल भरकर समूहों में जनपद के विभिन्न शिव मन्दिरों में जलाभिषेक हेतु गन्तव्य को जाते है। महाशिवरात्रि के अवसर पर विगत वर्षों में जनपद में किसी भी प्रकार की अप्रिय घटनायें नहीं घटित हुई है फिर भी वर्तमान आतंकवादी गतिविधियों के आलोक में असामाजिक तत्वों द्वारा कुत्सित उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु उक्त त्यौहार के अवसर पर कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वाली घटनायें कारित किये जाने से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। जिला मजिस्ट्रेट दिव्या मित्तल ने जारी एक आदेश में कहा है कि पर्व के शांतिपूर्ण सम्पादन हेतु संवेदनशील स्थलों पर समुचित सुरक्षा व्यवस्था तथा विशेष सर्तकता आवश्यक होगी, ऐसे स्थलों पर जहाँ अधिक संख्या में लोग एकत्र होते हैं, वहाँ पर भी विशेष सर्तकता तथा ऐसे स्थानों पर संभावित घटनाओं का पूर्वानुमान लगाया जाय व किसी घटना के घटित होने पर तत्परता से प्रभावी कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए।

उन्होने कहा कि मेला/स्नान के दौरान नदियों के तटों पर विशेष सुरक्षा प्रबन्ध किये जायें, जिससे भगदड़ आदि की संभावनाओं को समाप्त किया जा सके। संवेदनशील/साम्प्रदायिक एवं कन्टेनमेन्ट जोन में पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती की जाए। पर्व के अवसर पर सार्वजनिक स्थल यथा बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और संवेदनशील स्थान/धार्मिक स्थल पर यथावश्यक व्यवस्थायें चेकिंग कराई जाए। सघन जाँच एवं तलाशी की व्यवस्था के लिए स्वान-दल, आतंकवादी निरोधक दस्ता एवं बम निरोधक दल की तैनाती सुनिश्चित की जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि यातायात कदापि बाधित न हो। बैरियर एवं पुलिस चेक पोस्ट लगाकर संदिग्ध वाहनो की चेकिंग कराई जाए। मोटर वाहन अधिनियम के नियमों का पालन सख्ती से किया जाए। जन सुविधाएं यथा बिजली, पेयजल एवं साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। आकस्मिकता के दृष्टिगत सभी सरकारी अस्पतालों को तैयारी हालत में रखा जाए एवं डाक्टर तथा पैरा मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी राउण्ड द क्लाॅक लगायी जाए। आसामाजिक तत्वों एवं अफवाह फैलाने वालों पर विशेष ध्यान दिया जाए। सोशल मीडिया की राउण्ड द क्लाॅक मानिटरिंग की जाएं एवं कोई भी आपत्तिजनक पोस्ट संज्ञान में आते ही तत्काल ब्लाक करते हुए प्रभावी कार्यवाही की जाए। सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी दशा में शस्त्रों का प्रदर्शन न हो एवं अवैध शस्त्रों को लेकर चलने वालों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाय। जिन-जिन स्थानों पर किसी प्रकार का विवाद परिलक्षित हुआ हो वहाँ पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा स्थिति का अध्ययन कर लिया जाए एवं विवाद को सुलझाने तथा संवेदनशीलता को दूर करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। अधीनस्थ कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिए जाए कि वे अपने बीट में जाकर सभी प्रकार के विवाद आदि की जाँच कर ले एवं बीट सूचना प्राप्त होते ही वरिष्ठ अधिकारी मौके पर जाकर विवाद को समय रहते हल कर ले। आवश्यकतानुसार विभिन्न विवाद स्थलों व मार्गो का भ्रमण नगर मजिस्ट्रेट, समस्त उप जिला मजिस्ट्रेट एवं क्षेत्राधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से कर लिया। जाय। जनपद के अन्तर्गत विभिन्न शहरों कस्बों तथा मुहल्लों में पूर्व में गठित शान्ति समितियों की बैठक आयोजित कर सम्भ्रान्त नागरिकों एवं शान्ति समितियों के सदस्यों का सहयोग प्राप्त किया जाय। स्थानीय अभिसूचना इकाई के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को सतर्क कर दिया जाय। विभिन्न असामाजिक, अवाँछनीय एवं साम्प्रदायिक तत्वों की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखी जाय। अभिसूचना इकाई के माध्यम से प्राप्त होने वाली लाभप्रद सूचनाओं के आधार पर प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। जनपद के संवेदनशील क्षेत्रों व अन्य स्थानों पर मोबाईल पेट्रोलिंग कराई जाय जिससे कोई अप्रिय घटना न घटित होने पाए। सीसीटीवी कैमरा के व्यवस्थापन हेतु संवेदनशील स्थानोंध् चैराहों का चयन कर लिया जाए तथा साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील स्थलों को चिन्हित कर उन स्थानों पर रिजर्व पुलिस बल रखा जाना सुनिश्चित किया जाय। यथावश्यक ड्रोन कैमरे से भी निगरानी रखी जाय। महाशिवरात्रि के पर्व पर जुलूस ध् शोभा यात्रायें जनपद के विभिन्न स्थानों पर निकाली जाती है जो कही-कहीं पर मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों एवं उनके धार्मिक स्थलों के समीप से गुजरते है। लाउडस्पीकर आदि के बजाने व नारे बाजी को लेकर विवाद की स्थिति उत्पन्न होने की सम्भावना से इनकार नहीं किया जा सकता। अतः पुलिस अधीक्षक मीरजापुर द्वारा इस ओर विशेष सतर्कता बरती जाये।
साम्प्रदायिक दृष्टि से जनपद के नगर क्षेत्र को0 शहर, को0 कटरा, करबा विन्ध्याचल, करवा चुनार, कछवां, चील्ह जिगना, अहरौरा, लालगंज, मड़िहान तथा पंचमुखी महादेव मन्दिर बरियाघाट बड़ी माता यानाक्षेत्र से शिव बारात/शोभा यात्रायें निकाली जाती है तथा मेला आदि का भी आयोजन किया जाता है। ऐसी स्थिति में इन क्षेत्रों में पुलिस अधिकारी व्यापक रूप से भ्रमण कर संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर लें तथा वहाँ पर विशेष पुलिस व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। नगर क्षेत्र की कानून व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने हेतु नगर मजिस्ट्रेट व जनपद के उप खण्डों में कानून व्यवस्था हेतु संबंधित उप जिला मजिस्ट्रेट्स उत्तरदायी होंगे। उप जिला मजिस्ट्रेट्स स्वविवेकानुसार तहसीलदार एवं नायब तहसीलदारों की डयूटी लगाना सुनिश्चित करेंगे। अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड प्रथम/द्वितीय एवं चुनार, मीरजापुर विद्युत आपूर्ति की निरन्तरता सुनिश्चित किए जाने, अघोषित विद्युत कटौती पर विशेष ध्यान दिये जाने एवं संबंधित मार्गों पर विद्युत पोल में विद्युत प्रवाह रोकने, उसकी मरम्मत कराने एवं ढीले तारों की मरम्मत कराने हेतु व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होगे, जो अपने अधीनस्थों को तद्नुसार निर्देशित करते हुए आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। अधिशासी अभियन्ता गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई, मीरजापुर नगरीय क्षेत्र में संबंधित मार्गो का स्वयं भ्रमण करते हुए उसे श्रद्धालुओं एवं आम जन मानस के आवागमन हेतु उसकी मरम्मत के संबंध में आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। अधिशासी अभियन्ता लो0नि0वि0 मीरजापुर भी संबंधित मार्गो का निरीक्षण करते हुए उसे उसे श्रद्धालुओं एवं आम जन मानस के आवागमन हेतु उसकी मरम्मत के संबंध में आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे। मुख्य चिकित्साधिकारी मीरजापुर समस्त सामुदायिकध् स्थास्थ्य केन्द्रों पर आकस्मिक चिकित्सा व्यवस्था करना सुनिश्चित करेंगे। पुलिस अधीक्षक, मीरजापुर, सभी उप जिला मजिस्ट्रेट्स के साथ एक-एक क्षेत्राधिकारी की ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करेंगे, तथा जनपद के संवदेनशील क्षेत्रों को चिन्हित कराकर उन स्थानों पर तथा जनपद के प्रमुख शिव मन्दिरों पर विशेष पुलिस बल लगाया जाना सुनिश्चित करेंगे ताकि किसी भी दशा में शान्ति व्यवस्था बाधित न होने पाए। समस्त अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका परिषदध्नगर पंचायत भीरजापुर अपने-अपने क्षेत्रों के घाटों पर समुचित सफाई एवं प्रकाश की व्यवस्था कराना सुनिश्चित करें साथ ही साथ घाटों पर महिलाओं के वस्त्र बदलने हेतु चेंजिंग रूम एवं एनाउन्समेन्ट हेतु लाउडस्पीकर एवं बैरिकेडिंग की भी व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे। अपर मुख्य अधिकारी, जिला पंचायत मीरजापुर द्वारा घाटों पर आवश्यकतानुसार गोताखोर की व्यवस्था करना सुनिश्चित करेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित गंगा घाटों पर जिला पंचायत राज अधिकारी मीरजापुर उपरोक्तानुसार समस्त आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे। त्यौहार को शान्तिपूर्ण ढंग से सकुशल सम्पन्न कराने हेतु गंगा घाटों के नाविकों को हिदायत दी जाए कि क्षमता से अधिक व्यक्तियों को लेकर गंगा नदी में नाव संचालन न करें एवं नौका संचालन प्रशिक्षित व लाइसेंसी नाविकों द्वारा ही कराया जाना सुनिश्चित किया जाय। समस्त पुलिस अधिकारियोंध्कर्मचारियों तथा अभिसूचना कर्मियों की ब्रीफिंग कर उपरोक्त दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। जनपद में धारा 144 दं0प0सं0 लागू है, इसका अनुपालन कड़ाई से सुनिश्चित किया जाय। सर्वसंबंधित उपरोक्त निर्देशों का कड़ाई अनुपालन सुनिश्चित करते हुए जिले में कानून व्यवस्था एवं साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने हेतु हर सम्भव एहतिहाती कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए महाशिवरात्रि का पर्व शांतिपूर्ण एवं सकुशल सम्पन्न कराना सुनिश्चित करे।

आज ही डाउनलोड करें

विशेष समाचार सामग्री के लिए

Downloads
10,000+

Ratings
4.4 / 5

नवीनतम समाचार

खबरें और भी हैं